Tuesday, 5 September 2017

पिस्टन क्या है और कैसे काम करता है "WHAT IS PISTON HOW IT WORKS" ?

आज हम पिस्टन (PISTON) के बारे में चर्चा करते हैं


एक पिस्टन (PISTON) को पुनरावृत्तीय  इंजनों (reciprocating engines) में इस्तेमाल किया जाता है, पुनरावृत्तीय पंप (reciprocating pump) , गैस कंप्रेसर, अन्य इसी तरह की तंत्र के बीच है। यह एक चलती घटक है जो एक सिलेंडर द्वारा निहित (contained) होता है और पिस्टन की अंगूठी (PISTON rings) से गैस को बना देता है। इंजन में, इसका उद्देश्य एक सिलेंडर में क्रैंकशाफ्ट (crankshaft) को पिस्टन रोड (PISTON rod) के माध्यम से गैस के विस्तार से बल स्थानांतरित करना है।


एक आईसी इंजन (IC Engine) के उचित काम (work) करने के लिए, पिस्टन को एक मध्यवर्ती फिट बनाना या होना चाहिए जो पिस्टन और सिलेंडर की दीवार के बीच अच्छी सील फिट (sealing fit) और कम घर्षण (less friction) प्रतिरोध (resistance) प्रदान करें। इस आवश्यकता को पिस्टन की अंगूठी से पूरा किया जाता है ।


                              क्या-पिस्टन काम-प्रक्रिया है



इसमें मुख्यतः तीन अंगूठियां (Rings) शामिल हैं पहली को संपीड़न अंगूठी (compression ring) के रूप में जाना जाता है, मध्य में वाइपर रिंग या मध्यवर्ती अंगूठी  (intermediate ring) के रूप में जाना जाता है और आखिरी को तेल अंगूठी (Oil Rings) के रूप में जाना जाता है। यह छल्ले मुख्य रूप से लोहा (cast iron) द्वारा और कभी-कभी मिश्र धातु इस्पात (alloy steel) द्वारा तैयार किये जाते है।

पिस्टन की अंगूठी का कार्य ("Function of piston ring"):

  • पिस्टन और इंजन सिलेंडर के बीच अच्छी सील (good sealing) प्रदान करने के लिए।
  • उचित स्नेहन (proper lubrication) प्रदान करने के लिए।
  • इंजन की दीवार और पंखों (fins) के माध्यम से पिस्टन की गर्मी को स्थानांतरित करने के लिए।
  • पिस्टन और इंजन की दीवार के बीच घर्षण (friction) को कम करने के लिए।
    Share This
    Previous Post
    Next Post

    This is a place where you can learn about Engineering like MECHANICAL ENGG. AUTOMOBILE ENGG. ELECTRICAL ENGG. ETC. in most popular INDIAN language which is known as HINDI. Keep Reading, Keep Learning...

    0 comments: